Search This Blog

Sunday, October 25, 2015

पानी पानी

पेड़ लगे
बंग्लादेश में
बादल आया
हिन्दुस्तान में।

बारिश हुई
चेरापूंजी में
चाय उगी
बागान में।

चाय पी
राम ने
चाय पी
रहिम ने।

पानी खिचा
माटी ने
पानी मिला
पानी से।

रोक लगाया
तामिल ने
रोक लगाया
कर्नाटक ने।

आग  लगी
भाषाओं में
मारे गये
दंगों  मे।

हल्ला हुआ
संसद में
हल्ला हुआ
चौराहों पे।

वोट बने
नेताओं के
नाक कटी
देश की।


No comments:

Post a Comment